[PR] Gain and Get More Likes and Followers on Instagram.

#bhasmaa

263 posts

TOP POSTS

🙏🌹जय श्री महाकाल 🌹ॐ नमः शिवाय🙏श्री महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का आज का भस्मार्ती शृंगार दर्शन 21 अक्टूबर 2017 ( शनिवार ) जय श्री राम🌹हर हर महादेव#harharmahadev #bholenatha #jaishreemahakal#omnamahshivaya#bhasmarti#bhasmaa#ujjain

#bhasmaa aarti at ujjain.....

Pc- @saipratikmangaonkar
‘नम: शम्भवाय च मयोभवाय च नम: शंकराय च मयस्कराय च नम: शिवाय च शिवतराय च।’ #shiva #shiv #india #hindu #hinduism #yoga #bholenath #shankar #peace #omnamahshivaya #yogi #om #sadhu #harharmahadev #soul #instadaily #indian #meditate #incredibleindia #nashik #marijuana #naga #je #khapar #rudrakhsh #bumbumbole #ganggang a #chilam #bhasmaa #girnari

जिनके रोम-रोम में शिव हैं वही विष पिया करते हैं , जमाना उन्हें
क्या जलाएगा , जो श्रृंगार ही अंगार से किया करते हैं.......
#aghori #samsaan #angaar #sadhu #incredibleindia #india #shiv #hindu #omnamahshivaya #indian #bhasmaa #naga #yoga #rudrakhsh #mahadev #marijuana #meditate #instadaily #jaishankar🙏🙏🙏 #khapar #bumbumbhole #peace #soul #chilam

MOST RECENT

🙏🌹जय श्री महाकाल 🌹ॐ नमः शिवाय🙏श्री महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का आज का भस्मार्ती शृंगार दर्शन 21 अक्टूबर 2017 ( शनिवार ) जय श्री राम🌹हर हर महादेव#harharmahadev #bholenatha #jaishreemahakal#omnamahshivaya#bhasmarti#bhasmaa#ujjain

Clip3/last clip
अघोर साधनाएं मुख्यतः श्मशान घाटों और निर्जन स्थानों पर की जाती है। शव साधना एक विशेष क्रिया है जिसके द्वारा स्वयं के अस्तित्व के विभिन्न चरणों की प्रतीकात्मक रूप में अनुभव किया जाता है। अघोर विश्वास के अनुसार अघोर शब्द मूलतः दो शब्दों 'अ' और 'घोर' से मिल कर बना है जिसका अर्थ है जो कि घोर न हो अर्थात सहज और सरल हो। किन्तु श्मशान में मुर्दो को खाने जैसे घोर कर्म करने वाले अघोरी कहलाते है। वास्तव में ऐसे घोर कर्म करने वाले घोरी है। किन्तु सामाजिक जीवन में ऐसे कठोर और अशुभ शब्दों का प्रयोग या उच्चारण वर्जित है। इसलिए इन्हें घोरी कहने की बजाय अघोरी कहते है। प्रत्येक मानव जन्मजात रूप से अघोर अर्थात सहज होता है। बालक ज्यों ज्यों बड़ा होता है त्यों वह अंतर करना सीख जाता है और बाद में उसके अंदर विभिन्न बुराइयां और असहजताएं घर कर लेती हैं और वह अपने मूल प्रकृति यानी अघोर रूप में नहीं रह जाता। अघोर साधना के द्वारा पुनः अपने सहज और मूल रूप में आ सकते हैं और इस मूल रूप का ज्ञान होने पर ही मोक्ष की प्राप्ति संभव है। अघोर संप्रदाय के साधक समदृष्टि के लिए नर मुंडों की माला पहनते हैं और नर मुंडों को पात्र के तौर पर प्रयोग भी करते हैं। चिता के भस्म का शरीर पर लेपन और चिताग्नि पर भोजन पकाना इत्यादि सामान्य कार्य हैं। अघोर दृष्टि में स्थान भेद भी नहीं होता अर्थात महल या श्मशान घाट एक समान होते हैं।
#sadhu #incredibleindia #india #shiv #hindu #omnamahshivaya #ganja #indian #bhasmaa #kumbhmela #naga #yoga #rudrakhsh #mahadev #marijuana #meditate #instadaily #je #dreams #khapar #bumbumbole #peace #soul #chilam #girnari #bholenath #nashik #dhyan #instagod #harharmahadev #mahadev

Clip2
अघोर साधनाएं मुख्यतः श्मशान घाटों और निर्जन स्थानों पर की जाती है। शव साधना एक विशेष क्रिया है जिसके द्वारा स्वयं के अस्तित्व के विभिन्न चरणों की प्रतीकात्मक रूप में अनुभव किया जाता है। अघोर विश्वास के अनुसार अघोर शब्द मूलतः दो शब्दों 'अ' और 'घोर' से मिल कर बना है जिसका अर्थ है जो कि घोर न हो अर्थात सहज और सरल हो। किन्तु श्मशान में मुर्दो को खाने जैसे घोर कर्म करने वाले अघोरी कहलाते है। वास्तव में ऐसे घोर कर्म करने वाले घोरी है। किन्तु सामाजिक जीवन में ऐसे कठोर और अशुभ शब्दों का प्रयोग या उच्चारण वर्जित है। इसलिए इन्हें घोरी कहने की बजाय अघोरी कहते है। प्रत्येक मानव जन्मजात रूप से अघोर अर्थात सहज होता है। बालक ज्यों ज्यों बड़ा होता है त्यों वह अंतर करना सीख जाता है और बाद में उसके अंदर विभिन्न बुराइयां और असहजताएं घर कर लेती हैं और वह अपने मूल प्रकृति यानी अघोर रूप में नहीं रह जाता। अघोर साधना के द्वारा पुनः अपने सहज और मूल रूप में आ सकते हैं और इस मूल रूप का ज्ञान होने पर ही मोक्ष की प्राप्ति संभव है। अघोर संप्रदाय के साधक समदृष्टि के लिए नर मुंडों की माला पहनते हैं और नर मुंडों को पात्र के तौर पर प्रयोग भी करते हैं। चिता के भस्म का शरीर पर लेपन और चिताग्नि पर भोजन पकाना इत्यादि सामान्य कार्य हैं। अघोर दृष्टि में स्थान भेद भी नहीं होता अर्थात महल या श्मशान घाट एक समान होते हैं।
#sadhu #incredibleindia #india #shiv #hindu #omnamahshivaya #ganja #indian #bhasmaa #kumbhmela #naga #yoga #rudrakhsh #mahadev #marijuana #meditate #instadaily #je #dreams #khapar #bumbumbole #peace #soul #chilam #girnari #bholenath #nashik #dhyan #instagod #harharmahadev #mahadev

अघोर पंथ के प्रणेता भगवान शिव माने जाते हैं। कहा जाता है कि भगवान शिव ने स्वयं अघोर पंथ को प्रतिपादित किया था। किन्तु अघोर पन्थ की भी कई शाखाएं है या कई प्रकार है। जो अघोरी मानव मल का भक्षण करते है , वे शैव मार्गी नही होते है। वे उल्ट मार्गी वामाचारी या उल्टे कर्म करने वालें अघोरी काक अघोरी है जिन्होंने स्वयं ही अलग मार्ग या नई शाखा बनाई है। अवधूत भगवान दत्तात्रेय को भी अघोरशास्त्र का गुरू माना जाता है। अवधूत दत्तात्रेय को भगवान शिव का अवतार भी मानते हैं। अघोर संप्रदाय के विश्वासों के अनुसार ब्रह्मा, विष्णु और शिव इन तीनों के अंश और स्थूल रूप में दत्तात्रेय जी ने अवतार लिया। अघोर संप्रदाय के एक संत के रूप में बाबा किनाराम की पूजा होती है। अघोर संप्रदाय के व्यक्ति शिव जी के अनुयायी होते हैं। इनके अनुसार शिव स्वयं में संपूर्ण हैं और जड़, चेतन समस्त रूपों में विद्यमान हैं। इस शरीर और मन को साध कर और जड़-चेतन और सभी स्थितियों का अनुभव कर के और इन्हें जान कर मोक्ष की प्राप्ति की जा सकती है।
#sadhu #incredibleindia #india #shiv #hindu #omnamahshivaya #ganja #indian #bhasmaa #kumbhmela #naga #yoga #rudrakhsh #mahadev #marijuana #meditate #instadaily #je #dreams #khapar #bumbumbole #peace #soul #chilam #girnari #bholenath #nashik #dhyan #instagod

Clip1
अघोर पंथ हिंदू धर्म का एक संप्रदाय है। इसका पालन करने वालों को अघोरी कहते हैं। अघोर पंथ की उत्पत्ति के काल के बारे में अभी निश्चित प्रमाण नहीं मिले हैं, परन्तु इन्हें कपालिक संप्रदाय के समकक्ष मानते हैं। ये भारत के प्राचीनतम धर्म "शैव" (शिव साधक) से संबधित हैं। अघोर संप्रदाय के व्यक्ति अपने विचित्र व्यवहार, एकांतप्रियता और रहस्यमय क्रियाओं की वजह से जाने जाते हैं। अघोर संप्रदाय की सामाजिक उदासीनता और निर्लिप्ति के कारण इसे उतना प्रचार नहीं मिला है।
अघोर पंथ के प्रणेता भगवान शिव माने जाते हैं। कहा जाता है कि भगवान शिव ने स्वयं अघोर पंथ को प्रतिपादित किया था। किन्तु अघोर पन्थ की भी कई शाखाएं है या कई प्रकार है। जो अघोरी मानव मल का भक्षण करते है , वे शैव मार्गी नही होते है। वे उल्ट मार्गी वामाचारी या उल्टे कर्म करने वालें अघोरी काक अघोरी है जिन्होंने स्वयं ही अलग मार्ग या नई शाखा बनाई है। अवधूत भगवान दत्तात्रेय को भी अघोरशास्त्र का गुरू माना जाता है। अवधूत दत्तात्रेय को भगवान शिव का अवतार भी मानते हैं। अघोर संप्रदाय के विश्वासों के अनुसार ब्रह्मा, विष्णु और शिव इन तीनों के अंश और स्थूल रूप में दत्तात्रेय जी ने अवतार लिया। अघोर संप्रदाय के एक संत के रूप में बाबा किनाराम की पूजा होती है। अघोर संप्रदाय के व्यक्ति शिव जी के अनुयायी होते हैं। इनके अनुसार शिव स्वयं में संपूर्ण हैं और जड़, चेतन समस्त रूपों में विद्यमान हैं। इस शरीर और मन को साध कर और जड़-चेतन और सभी स्थितियों का अनुभव कर के और इन्हें जान कर मोक्ष की प्राप्ति की जा सकती है।
#sadhu #incredibleindia #india #shiv #hindu #omnamahshivaya #ganja #indian #bhasmaa #kumbhmela #naga #yoga #rudrakhsh #mahadev #marijuana #meditate #instadaily #je #dreams #khapar #bumbumbole #peace #soul #chilam #girnari #bholenath #nashik #dhyan #instagod #harharmahadev #mahadev

Who are Aghoris ?

Aghoris are simple beings or beings who live with complete simplicity. Today, we have complicated religion to a very large extent. We perform rituals, ceremonies and practice techniques in a roundabout way to achieve health and wealth. But I tell you, religion is not meant just for health and wellness. Its main purpose is to help you break your negative mental patterns and achieve the ultimate. Health and wellness should only be a by-product. Aghoris directly work on breaking these patterns and simplifying religion. They don’t do things in a roundabout way.

Aghoris are not dream sellers. Anybody who sells you a technique and asks you to go on practicing it, assuring you that one day God will give you enlightenment, is a dream seller. I always tell people to work with unclutching for just 10 days. If it works, it works, otherwise forget about it. In 10 days itself, you will see a major breakthrough. When you experience the breakthrough, you are growing. If you tell an Aghori that God is all powerful and if you pray to him he will come and bless you, he will simply laugh at you. Like I said, Aghoris are not dream sellers.

#mahadev #shiva #shiv #omnamahshivaya #hindu #yoga #india #harharmahadev #peace #marijuana #incredibleindia #indian #sadhu #naga #je #instadaily #khapar #rudrakhsh #bumbumbole #soul #chilam #ganja #bhasmaa #girnari #shankar #meditate #kumbhmela #aghori #shiv

Most Popular Instagram Hashtags