krishnakant7490 krishnakant7490

8 posts   25 followers   80 followings

Krishna Kant  आखों की गहराई में तेरी खो जाना चाहता हूँ आज तुझे बाँहों में लेकर सो जाना चाहता हूँ तोड़ कर हदे मैं आज सारी अपना तुझे बना लेना चाहता

ये मुहब्बत भी क्या रोग है फ़राज़,
जिसे भूले वो सदा याद आया। मेरे सब्र की इन्तेहाँ क्या पूछते हो 'फ़राज़'
वो मेरे सामने रो रहा है किसी और के लिए।

छोड दी हमने हमेशा के लिए उसकी, आरजू करना,
जिसे मोहब्बत, की कद्र ना हो उसे दुआओ, मे क्या मांगना

रिश्ते उन्ही से बनाओ जो निभानेकी औकात रखते हो,
बाकी हरेक दिल काबिल-ऐ-वफा नही होता

क़दर करलो उनकी जो तुमसे बिना मतलब की चाहत करते हैं
दुनिया में ख्याल रखने वाले कम और तकलीफ देने वाले ज़्यादा होते है

पत्थर को चाहने की गलती कि है.. हमने, आखिर में ठोकर तो लगनी ही थी।????????????

Most Popular Instagram Hashtags